समर्थक

शुक्रवार, 21 दिसंबर 2012

"अन्ना, बाबा-केजरीवाल फ्लॉप" (कार्टूननिस्ट-मयंक खटीमा)



7 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छे भली प्रस्तुति-
    'लेखनी'ही नहीं 'तस्वीर' भी बोलती है |
    यह भी 'दिल'के सब 'भाव'खोलती है ||
    'हाव-भाव-हेला इस में भी दिखते हैं-
    यह भी सब के मन को टटोलती है ||

    उत्तर देंहटाएं
  2. बढ़िया लेखन, बधाई !!

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों से ऊर्जा मिलती है!
परन्तु कभी-कभी टिप्पणियाँ स्पैम में चली जाती हैं।
जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।