समर्थक

शुक्रवार, 23 नवंबर 2012

"सबसे पहले आभार!" (कार्टूनिस्ट-मयंक)

सबसे पहले आभार!
कार्टूनिस्ट भाई आर.डी.एक्स. का!
जिन्होंने मुझे कार्टून बनाने की प्रेरणा दी!

Friday, March 12, 2010

कैरिकेचर- भाई डॉ. रूपचंद्र शास्त्री 'मयंक'...

अब देखिए मेरी कूची से निकला पहला कार्टून!
और ये रहा मेरे द्वारा बनाया गया
दूसरा कार्टून!
कार्टूननिस्ट-मयंक खटीमा

9 टिप्‍पणियां:

  1. "कार्टून-लालबत्ती" (कार्टूनिस्ट-मयंक खटीमा)
    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण)
    उच्चारण
    खाली करवाए तुरत, सही चुकावो दाम ।
    फ़ार्म हाउस बंगला बड़ा, घर जमीन का काम ।
    घर जमीन का काम, नाम धारी है बडका ।
    मुर्ग-मुसल्लम खाय, भाय नहिं इसको तड़का ।
    तड़के पॉन्टी मौत, चुकाए दाम मवाली ।
    जलती बत्ती लाल, करे खुद गाड़ी खाली ।।

    उत्तर देंहटाएं
  2. कार्टूनिस्ट के रूप में आपका स्वागत है.
    आपके पहले कार्टून के रिलेशन से देखिये हमारी यह पोस्ट-
    सज़ा ए मौत Kasab ko phansi
    http://blogkikhabren.blogspot.in/2012/11/kasab-ko-phansi.html

    उत्तर देंहटाएं
  3. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपका इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (24-11-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    उत्तर देंहटाएं
  5. बढ़ियाँ है लगे रहिये...
    शुभकामनाएँ...
    :-)

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों से ऊर्जा मिलती है!
परन्तु कभी-कभी टिप्पणियाँ स्पैम में चली जाती हैं।
जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।